अगर आपके घर में भी उग रहा है पीपल का पेड़, तो बन सकते है आपके बिगड़े हुए काम, जानें कैसे?

0
247

हिन्दु मान्यताओं के अनुसार पीपल का पेड़ काफी शुभकारी माना जाता है। इसे न सिर्फ धर्म संसार से जोड़ा गया है बल्कि विज्ञान और आयुर्वेद के अनुसार भी ये स्वास्थ्य ठीक करने के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है। साथ ही इसके कई ज्योतिषीय गुण भी माने गए हैं। हमारे घर के आसपास आपने कई बार पीपल का पेड़ उगता हुआ देखा होगा। वैज्ञानिकों की मानें तो आसपास पीपल का पेड़ रहने से वातावरण में एक नयापन आता है। एक नई ऊर्जा रहती है। अगर आपके भी घर के आसपास कहीं पीपल का पौधा उग जाता है, तो कुछ ज़रूरी बातें है जो आपको दिमाग में ध्यान रखने की ज़रुरत है।

सूर्योदय से पहले कभी नहीं करें पूजा

वैसे पीपल के पेड़ का धार्मिक महत्व तो सभी जानते हैं । शुभ कामों में पीपल के पत्तों से वंदनवार भी बनाये जाते हैं। पीपल में पितरों का वास माना गया है. इसमें सब तीर्थों का निवास भी होता है इसीलिए मुंडन आदि संस्कार पीपल के पेड़ के नीचे करवाने का प्रचलन है. मंदिरों में भी आपने अक्सर पीपल के पेड़ लगे हुए ज़रूर देखें होंगे। सूर्योदय के बाद पीपल के पेड़ पर मां लक्ष्मी जी का अधिकार माना गया है। इसलिए अगर आपके आसपास पीपल का पेड़ है तो उसकी सूर्योदय से पहले कभी न पूजा करें। मान्यता है कि इससे घर में दरिद्रता आती है।

पीपल के पेड़ को कभी ना काटे

ज्योतिष शास्त्र की मानें तो पीपल का पेड़ अगर उग भी आया है तो उसे काटने से परहेज करें। इसको काटना या नष्ट करना ब्रह्महत्या के समान पाप माना गया है। बल्कि पीपल के पेड़ की काटने के बजाय उसी स्थान पर पूजा करनी चाहिए। इससे आपके कार्यों और विचारों में एक स्टेबिलिटी आएगी। आपकी तार्किक क्षमता में वृद्धि आती है। कहते हैं कि इसकी पूजा करने से शादी में आ रही समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। घर में धन का लाभ होता है और आय का प्रवाह आसान बनता है। इससे आपकी बुद्धिमता बढ़ती है।

सेहत के लिए है फायदेमंद

ये बात वैज्ञानिकों ने भी साबित की है कि पीपल का पेड़ हमें चौबीस घंटे ऑक्सीजन देता है। आसपास पीपल का पेड़ रहने से आप दीर्घायु बनते हैं। लेकिन रात के समय इस वृक्ष के नीचे सोना अशुभ माना गया है। लेकिन इसकी छाया ठंडियों में गर्म और सर्दियों में ठंडी रहती है। इसके वृक्ष के पत्ते से लेकर फल तक सभी में औषधीय गुण रहते हैं जिससे आपके किसी भी तरह के रोग ज्यादा दिन तक शरीर में टिक नहीं पाएंगे। जैसे शरीर के किसी हिस्से में घाव हो जाने पर पीपल के पत्तों का गर्म लेप लगाने से घाव सूखने में मदद मिलती है। अगर पीपल के पत्तों को छांव में सुखाकर मिश्री के साथ इसका काढ़ा बनाकर पी लें, तो इससे काफी समय तक रहने वाला जुखाम जल्दी ठीक हो जाता है।

ठहर जाइये पीपल के फायदे सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं है। इसके अलावा किसी जहरीले जानवर के काट लेने पर रोगी को थोड़ी थोड़ी देर में अगर विष का रस पिलायेंगे, तो उससे जहर का असर कम होने लगता है। आजकल बदलते मौसम में अजीबोगरीब स्किन की समस्याएं भी जन्म ले रही है। इस स्थिति में उस जगह पर पीपल की छाल घिसकर लगा लें। इससे आपको काफी फायदा मिलेगा। अगर ज़िन्दगी में किसी स्ट्रेस से जूझ रहे हैं, या कोई बात आपको बार बार परेशान कर रही है तो भी पीपल का पेड़ आपकी काफी मदद कर सकता है। अपने दिमाग को कूल या विचलित मन शांत करने के लिए इसके कोमल पत्तों को नियमित रूप से चबाये। इससे आप खुद को स्ट्रेस फ्री महसूस करेंगे।

अगर आपके घर में किसी ऐसी जगह पर पीपल का पौधा निकलता है, जहां से उसे हटाना आपकी मजबूरी है। तो घबराने की बात नहीं है। पहले उसी स्थान पर पेड़ की पूजा करें। फिर उसे वहां से निकाल कर किसी गमले में लगा दें। इस बात का ध्यान रखें कि उस पौधे को हटाते समय उसकी जड़ गलती से भी न काटें। घर की पूर्व दिशा में भी पीपल का पेड़ लगाने से बचें, क्योंकि इसे धन का काफी नुकसान होने की संभावनाएं रहती हैं। पीपल की पूजा करने के बाद उसको किसी गमले में लगा दें। ऐसा करने से आपके चारों ओर किसी भी तरह की नेगेटिविटी चाह कर भी नहीं पनपेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here